BPO क्या होता है और हम इसमें जॉब कैसे पा सकते हैं।

 

Bpo क्या होता है और हम इसमें जॉब कैसे पा सकते हैं बीपीओ मैं जॉब पाना आजकल काफी युवा पसंद करने लगे हैं जी हां जो आज के समय में हर नौजवान करना चाहता है मैं सोचता है कि उसे जल्द से जल्द कोई ना कोई जॉब मिल जाए बीपीओ जॉब उसके लिए सबसे अच्छी जॉब मानी जाएगी अगर वह जल्दी से ग्रेजुएशन कंप्लीट करके कोई जॉब करना चाहता है तो क्योंकि है बड़ी आसानी से मिलने वाली जॉब में से एक है।

 

इसको पाने के लिए हमें ज्यादा मुश्किल का सामना नहीं करना पड़ता बस हमें यह ध्यान में रखना होगा कि हम अपनी आदान प्रदान की भाषा को बहुत अच्छे से समझा और सुन पाए जी हां इसमें सारा खेल हमारी बातचीत का होता है अगर हमारी बातचीत इंग्लिश और हिंदी दोनों में अच्छी हो जाओगी तो हमारी जो पक्का इसमें लग जाएगी और आजकल तो हिंदी में ही जॉब मिल भी जाती है

 

बीपीओ की फुल फॉर्म क्या होती है

“Business Process Outsourcing”

 

 

बीपीओ कॉल सेंटर में जॉब कैसे पाए

 

आपको इसके लिए इंटरनेट की सहायता लेनी होगी आप इंटरनेट पर सर्च कर सकते हैं आज के समय में बहुत बड़ी-बड़ी कंपनियां बीपीओ की जॉब के लिए भर्तियां निकालती है और काफी तादाद में युवा इसके लिए चयन भी करते हैं मैंने यहां तक देखा है कि मेरे कम से कम कई दोस्त इसमें चाबी चुके हैं और वह अपने एक्सपीरियंस में शेयर करते हैं वे बताते हैं कि इसमें जो बहुत ही अच्छी है अगर हम थोड़ी मेहनत कर ले तो हम अच्छे पैसे भी कमा सकते हैं।

 

बीपीओ में जॉब करने के लिए हमें कितना पैसा मिलता है।

 

बीपीओ में जॉब करने के लिए हमें अच्छा खासा पैसा मिल जाता है और हमें ज्यादा मशक्कत भी नहीं करनी पड़ती क्योंकि यहां पर हमें सिर्फ लोगों से बात करनी होती है और अगर ज्यादा बड़ी परेशानी हो तो हम इस कॉल को दूसरे अपने एग्जीक्यूटिव को भी ट्रांसफर कर सकते हैं इसमें हमें काफी अच्छा माहौल मिलता है जिसमें हम बहुत ही जल्दी ढलने लगते हैं और हम यहां पर अपना काम जल्द से जल्द पूरा कर भी कर लेते हैं कभी-कभी तो दिन भर भी हमें काम नहीं करना पड़ता। Bpo sallary = 18000 to 50,000

 

बीपीओ जॉब करने के लिए हमें कितने दिन लगते हैं और हमें कितने दिन में जो मिल जाती है और डिग्री कितनी हमें देनी पड़ती है कितनी डिग्री चाहिए होती है।

 

वैसे तो कोई भी ग्रेजुएशन पास लड़का या लड़की आराम से बीपीओ जॉब के लिए ट्राई कर सकते हैं पर जहां पर हम कुछ ज्यादा ही बड़ा काम होता है वहां पर इन कंपनियों का मानना है कि उन्हें ज्यादा डिग्रियों की जरूरत पड़ेगी तो इसलिए सब की रिक्वायरमेंट अलग-अलग हो सकती हैं पर 90 परसेंट ग्रेजुएशन वाले बंदे ही इसमें ट्राई कर सकते हैं